राजनीति राष्ट्रीय

संसद सत्र की को लेकर आई बड़ी खबर सुनकर विपक्ष बिफरा

Anger Over Government's 'No Question Hour' Move For Parliament Session
Anger Over Government's 'No Question Hour' Move For Parliament Session

Bharatvani Samachar(Agency):नई दिल्ली कोरोना संकट के बीच 14 सितंबर से शुरू हो रहे संसद सत्र को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. लोकसभा सचिवालय ने संसद सत्र का शेड्यूल जारी किया है. नये शेड्यूल के अनुसार 15 सितंबर से 01 अक्टूबर तक लोकसभा दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक चलेगा. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार लोकसभा सचिवालय ने लोकसभा का टाइम टेबल जारी कर दिया है. टाइम टेबल के अनुसार सत्र के पहले दिन यानी की 14 सितंबर को संसद 9 बजे से 1 बजे तक चलेगी, जबकि 15 सितंबर से 1 अक्टूबर तक संसद के नीचले सदन को दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक चलाया जाएगा. प्रश्न काल नहीं- लोकसभा सचिवालय के अनुसार इस सत्र में प्रश्न काल नहीं होगा. इसका सबसे बड़ा कारण संसद सत्र के कम समय की कार्यवाही को माना जारहा है. माना जा रहा है कि सत्र में महत्वपूर्ण विधेयक और अध्यादेश को पास कराने की कोशिश सरकार करेगी. वहीं लोकसभा की कार्यवाही से प्रश्न काल को हटाने पर विपक्ष ने सरकार पर हमला बोल दिया है. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि सरकार प्रश्न काल हटाकर रबर स्टंप से देश को चलाना चाहती है. यह लोकतंत्र के लिए घातक होगा. कोविड-19 की छाया में 14 सितंबर से शुरू होने वाले संसद के मानसून सत्र के दौरान सांसदों, कर्मचारियों सहित करीब 4000 लोगों के लिये कोरोना वायरस टेस्ट कराने, हजारों की संख्या में मास्क, दास्ताने, सैकड़ों सैनिटाइजर की बोतलें, चेहरे ढकने का आवरण या फेस शिल्ड सहित 18 दिनों के सत्र के लिये कई अन्य व्यवस्थाएं की गई है. अधिकारियों ने बताया कि सम्पूर्ण संसद परिसर की समस-समय पर साफ सफाई और सैनिटाइज किया जायेगा, वहीं विभिन्न संसदीय कागजातों के अलावा जूता-चप्पल एवं सांसदों के कारों को भी सैनिटाइज करने की व्यवस्था होगी.

About the author

Editor@Admin

आज कल के कॉर्पोरेट कल्चर के इस दौर में हर बात ख़ास की कही जा रही है और हर बात खास की सुनी जा रही है। भारत वाणी समाचार एक जरिया बनना चाहता है जिसमें हर आम इंसान अपनी कह भी सके और अपनी सुना भी सके। यहाँ पर हर एक का एक कोना है जिसे जो कहना है कहे और जिसे जो भी सुनाना है सुनाए शर्त बस इतनी है की मर्यादाओं का संयमपूर्वक पालन किया जाये। पर ध्यान रखें की खबरें तथ्यों पर आधारित ही रहे।

Add Comment

Click here to post a comment

Live TV

Weather Forecast

Facebook Like

Advertisement1

जॉब करियर

Advertisements2