अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय

भारतीय किसानों के प्रदर्शन को मिला इस अंतराष्ट्रीय हस्ती का समर्थन

Wisconsin State Assembly Speaker Supports Farmers' Protests In India
Wisconsin State Assembly Speaker Supports Farmers' Protests In India

Bharatvani Samachar (Agency):  वाशिंगटन अमेरिका में विस्कॉन्सिन स्टेट असेंबली के स्पीकर ने भारत में जारी किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करते हुए भारत सरकार से नए कृषि कानूनों पर अपने फैसले पर पुनरूविचार करने और प्रभावित किसानों की बात सुनने की अपील की है। रॉबिन जे. वॉस ने अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू को एक पत्र लिखकर किसानों के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया। उन्होंने ऐसा ही एक पत्र भारत में अमेरिकी राजदूत केन जस्टर को भी लिखा है। Indian Farm Protestors

और पढ़ें   पटना सिविल कोर्ट ने किया ऐतिहासिक काम जानकर उड़ेंगे होश

उन्होंने चार जनवरी को लिखे पत्र में कहा, ” विस्कॉन्सिन और भारत में एक समानता है, बड़ी कृषि अर्थव्यवस्था। हमारे राज्य के किसानों का हमारी अर्थव्यवस्था में बड़ा योगदान है। यह मेरे लिए बहुत बड़ी बात होगी कि हम उनकी राय जाने बिना उन्हें प्रभावित करने वाले कानून बनाएं या उनके शांतिपूर्ण इकठ्ठे  होने के अधिकार के इस्तेमाल में अड़चन डालें। वॉस ने कहा, ” उम्मीद है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार अपने फैसले पर पुनरू विचार करेगी और किसानों के साथ बैठकर उनकी चिंताएं सुनेगी। Indian Farm Protestors

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्त्व ने पिछले महीने भारत में किसानों के प्रदर्शन पर विदेशी नेताओं और राजनेताओं की टिप्पणी पर कहा था, ” वह बिना पूर्ण जानकारी के बयान दे रहे हैं। ऐसी टिप्पणियां अनुचित हैं। खासकर, जब यह एक लोकतांत्रितक देश का आंतरिक मामला है। भारत में किसान विवादित कृषि कानूनों को वापस लेने एवं न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी की अपनी मांग को लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से लगी सीमाओं पर 26 नवम्बर से डटे हैं। Indian Farm Protestors

देश दुनिया की वो खबरें जो मायने रखती है हमारी आपकी और देश के भविष्य से उनसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाईक करें   खबर जन जन की आवाज़ जन गण मन की

About the author

Editor@Admin

आज कल के कॉर्पोरेट कल्चर के इस दौर में हर बात ख़ास की कही जा रही है और हर बात खास की सुनी जा रही है। भारत वाणी समाचार एक जरिया बनना चाहता है जिसमें हर आम इंसान अपनी कह भी सके और अपनी सुना भी सके। यहाँ पर हर एक का एक कोना है जिसे जो कहना है कहे और जिसे जो भी सुनाना है सुनाए शर्त बस इतनी है की मर्यादाओं का संयमपूर्वक पालन किया जाये। पर ध्यान रखें की खबरें तथ्यों पर आधारित ही रहे।

Add Comment

Click here to post a comment

Live TV

Weather Forecast

Facebook Like

Advertisement1

जॉब करियर

Advertisements2