पश्चिम बंगाल

गंगा सागर मेला पर कलकत्ता हाइकोर्ट ने ममता सरकार से मांगा

Ganga Sagar Fair The State Government should take its side Kolkata HC
Ganga Sagar Fair The State Government should take its side Kolkata HC

Bharatvani Samachar (Agency): कोलकाता) कोलकाता पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना स्थित सागर द्वीप पर लगने वाले विश्व के सबसे बड़े सालाना गंगा सागर मेला  Ganga Sagar Fair  के आयोजन पर कलकत्ता हाइकोर्ट ने बड़ी टिप्पणी की है. मुख्य न्यायाधीश टीबीएन राधाकृष्णन व न्यायाधीश अरिजीत बनर्जी की खंडपीठ ने कहा है कि यदि कोर्ट को महसूस हुआ कि मकर संक्रांति के अवसर पर लगने वाले मेला की वजह से लोगों की सुरक्षा को खतरा है, तो मेला पर पूर्ण रोक का आदेश जारी कर सकते हैं. Ganga Sagar Fair

और पढ़ें   अब बगैर कार खरीदे ही ले कार का मज़ा जानिए कैसे
चीफ जस्टिस ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव से हलफनामा देने के लिए कहा है. कोर्ट ने मुख्य सचिव को विशेषज्ञ डॉक्टरों की सलाह लेने के बाद हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि गंगा सागर मेला की तुलना दुर्गा पूजा या छठ से नहीं की जा सकती. इसकी तुलना सिर्फ कुंभ से हो सकती है। चीफ जस्टिस ने कहा कि जीवन का अधिकार लोगों का मौलिक अधिकार है. आप विकल्प तलाशिये. जरूरत पड़े, तो लोग जल लेकर लौट जायें. इस विषय पर शुक्रवार को भी सुनवाई होगी. मेला के आयोजन के लिए राज्य सरकार की तैयारियों पर हाइकोर्ट ने राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी थी. गुरुवार को इस मामले में सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने यह टिप्पणी की। बुधवार को भी इस मामले में सुनवाई हुई थी. तब राज्य के महाधिवक्ता किशोर दत्त से इस बारे में रिपोर्ट मांगी थी. इस पर महाधिवक्ता किशोर दत्त ने हाइकोर्ट से समय की मांग की. इस दौरान हाइकोर्ट ने कहा कि वार्षिक उत्सव के लिए सबरीमाला मंदिर को भी खोल दिया गया है. सबरीमाला मंदिर में कड़ी निगरानी में हजारों पुण्यार्थियों को प्रवेश दिया जा रहा है। ऑनलाइन आवेदन करने के बाद एक साथ मात्र 20 लोगों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जा रही है. पश्चिम बंगाल सरकार को भी यहां इस प्रकार की व्यवस्था शुरू करनी चाहिए. गौरतलब है कि कोरोना की परिस्थिति को देखते हुए गंगा सागर मेला में भीड़ नियंत्रित करने के लिए हाइकोर्ट में जनहित याचिका दायर की गयी है.
हावड़ा निवासी अजय कुमार दे ने अपनी याचिका में सागर द्वीप में मेला परिसर व बाबूघाट क्षेत्र को एक महीने के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित करने की मांग की है. इससे पहले अजय कुमार दे ने दुर्गा पूजा, काली पूजा, छठ पूजा व जगधात्री पूजा के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने की मांग पर याचिका दायर की थी और हाइकोर्ट ने भीड़ नियंत्रण के लिए गाइडलाइन भी जारी की थी। Ganga Sagar Fair

देश दुनिया की वो खबरें जो मायने रखती है हमारी आपकी और देश के भविष्य से उनसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाईक करें   खबर जन जन की आवाज़ जन गण मन की

About the author

Editor@Admin

आज कल के कॉर्पोरेट कल्चर के इस दौर में हर बात ख़ास की कही जा रही है और हर बात खास की सुनी जा रही है। भारत वाणी समाचार एक जरिया बनना चाहता है जिसमें हर आम इंसान अपनी कह भी सके और अपनी सुना भी सके। यहाँ पर हर एक का एक कोना है जिसे जो कहना है कहे और जिसे जो भी सुनाना है सुनाए शर्त बस इतनी है की मर्यादाओं का संयमपूर्वक पालन किया जाये। पर ध्यान रखें की खबरें तथ्यों पर आधारित ही रहे।

Add Comment

Click here to post a comment

Live TV

Weather Forecast

Facebook Like

Advertisement1

जॉब करियर

Advertisements2